Top 50 + anmol vachan suvichar | भगवान को केवल पुजा-पाठ नहीं,

Spread the love

Top 50 + anmol vachan suvichar भगवान को केवल पुजा-पाठ नहीं साफ दिल चाहिए,,

भगवान को केवल पुजा-पाठ नहीं साफ दिल चाहिए,Top 50 +Anmol vachan suvichar आदमी मंदिर तक तो पहुँच जाता हैं मगर भगवान तक नहीं पहुंच पाता। चरण हमें मंदिर तक लेकर जाते हैं और आचरण भगवान तक,चरण में सामर्थ्य होगा तो वो हमें मंदिर तक पहुँचा देगा और आचरण साफ होगा तो वो हमें भगवान के दर तक पहुँचा देगा। आजका सुविचार

मनुष्य अहंकार और गलतफहमी
के कारण महत्वपूर्ण चीजों से दूर रहता है,
गलतफहमियां सच नहीं बताती
और अहंकार सत्य को देखने नहीं देता।

प्रेरणादायक अनमोल वचन बुद्धिमान वो नहीं होता जो केवल बोलना

बुद्धिमान वो नहीं होता जो केवल बोलना
जानता है। असली बुध्दिमान तो वो है
जिसे ये पता है कहाँ चुप रहना है।

नि:स्वार्थ कर्म करते रहिए.. जो
जो भी होगा अच्छा ही होगा
थोड़ा देर से होगा, पर बहुत ही
अच्छा होगा…

लोहे को कोई खराब नही कर सकता पर
उसका खुद का जंग उसे खराब कर
देता है। इसी तरह इंसान को कोई
बर्बाद नही करता इंसान का खुद
का दिमाग बर्बाद करता है।

कुछ दुनिया में सिर्फ लोगों की
चुगली करने और उनसे जलने
के लिए जन्म लेते है,उनकी
जिंदगी का दूसरा कोई मकसद
नहीं होता।

Anmol_vachan_shuvichar_आज_का_अनमोल_वचन

Top 50 +Anmol vachan suvichar नए अनमोल वचन बहुत खुश किस्मत होते है

बहुत खुश किस्मत होते है
वे लोग जिन्हें समय’ और ‘समझ
एक साथ मिलती है,
क्योंकी अक्सर ‘समय’ पर ‘समझ’ नही
आती और जब’समझ’ आती है तो
‘समय’ हाथ से निकल जाता है!

Top 50 +Anmol vachan suvichar वाणी व्यवहार और विचार

वाणी व्यवहार और विचार
यह आपकी अपनी कम्पनी के
प्रोडक्ट हैं। जितनी क्वॉलिटी अच्छी
रखेंगे उतनी कीमत ऊँची
मिलेगी।

जिंदगी में तोता नहीं बाज़ बनिये
क्योंकि तोता बोलता बहुत है
लेकिन उड़ता बहुत कम है
जबकि बाज़ शांत रहता है
लेकिन आसमान छूने की
ताकत रखता है

लोगों से रिश्ता निभाकर एक ही बात
सीखी है किसी की
हद से ज्यादा फिक्र करोगे तो वो इंसान
आपको फालतू समझने लगेगा!

Anamol_vachan_shuvichar_दर्द_भरे_अनमोल_वचन

Top 50 +Anmol vachan suvichar आज का विचार शब्दों में धार नहीं

आज का विचार शब्दों में धार नहीं बल्कि
आधार होना चाहिए क्योंकि जिन शब्दों में धार होती है वो मन को काटते है और जिन शब्दों का
आधार होता है वो मन को जीत लेते है।Daily ShuVichar Om Shant

मनिंदगी की किताब में,
धैर्य के कवर का होना
बहुत जरूरी है.
क्यूं कि-वही हर पन्ने को
बाँधकर रखता है।

Anmol Vachan in Hindi Status दुसरों की परेशानी का

“दुसरों की परेशानी का
आनंद ना लें कहीं भगवान आपको
वह गिफ्ट ना कर दे!!
क्योंकि भगवान वही
देता है जिसमें आपको

Anmol_vachan_shuvichar_आज_का_अनमोल_वचन
Anmol_vachan_shuvichar_आज_का_अनमोल_वचन

जिंदगी की राह में ठोकर
इसलिए नही लगती की इंसान
गिर जाए, बल्कि इसलिए
लगती है कि इंसान संभल जाए

कोहरे से एक अच्छी बात सीखने को मिली
कि जब जीवन में कोई रास्ता न दिखाई दे रहा
हो तो बहुत दूर तक देखने की
कोशिश व्यर्थ है। धीरे धीरे एक एक कदम
चलो रास्ता खुलता जायेगा

समय से ज्यादा सिर्फ उन्ही
रिश्तों की कद्र करो
जिन्होंने समय पर आपका
साथ दिया हो..

Top 50 +Anmol vachan suvichar दुनिया में दान जैसी कोई संपत्ति नहीं

दुनिया में दान जैसी कोई संपत्ति नहीं
लालच जैसा कोई और रोग नहीं
अच्छे स्वाभाव जैसा कोई
आभूषण नहीं और संतोष जैसा और
कोई सुख नहीं

जिंदगी की राह में ठोकर
इसलिए नही लगती की इंसान
गिर जाए, बल्कि इसलिए
लगती है कि इंसान संभल जाए

Anamol_vachan_shuvichar_दर्द_भरे_अनमोल_वचन
Anamol_vachan_shuvichar_दर्द_भरे_अनमोल_वचन

किसी को गलत समझना बहुत
आसान होता है पर जिस बात
के लिए गलत समझ रहे हो उस
बात को समझना बहुत मुश्किल
होता है..

खमुख्याका सबसे सच्चा साथी
उसका स्वास्थ्य हैं..!
जिस दिन स्वास्थ्य ने साथ छोड़ा..?
मनुष्य हर रिश्ते पर बोझ बन
जाता है..!!

Top 50 +Anmol vachan suvichar

सदा उनके कर्जदार रहिये जो आपके लिए

सदा उनके कर्जदार रहिये जो आपके लिए
खुद का वक़्त नहीं देखता
और सदा ही उनके वफ़ादार रहिये जो
व्यस्त होने के बावजूद आपके लिए वक्त
निकालते हैं

सब कुछ महंगा हो गया है लेकिन
माचिस आज भी 1 रूपए पर रुकी
है याद रखिए आग लगाने वालों की
कीमत कभी नहीं बढ़ती है !

Anmol vachan ShuVichar छोटे अनमोल वचन जब सर पे जिम्मेदारी

जब सर पे जिम्मेदारी
बड़ी हो तो हिसाब से रहना
पड़ता है, बहुत कुछ सुनना
पड़ता है और बहुत कुछ
सहना पड़ता है..!

Anamol_vachan_shuvichar_दर्द_भरे_अनमोल_वचन

Top 50 +Anmol vachan suvichar

यदि हम काँच के टुकड़े बनकर रहेंगे तो

यदि हम काँच के टुकड़े बनकर रहेंगे तो कोई
छुएगा भी नहीं लेकिन जिस दिन हम
दर्पण बन जाऐंगें तो बिना
देखे कोई रहेगा भी नहीं।

वक़्त कब क्या रंग दिखाए
हम नहीं जानते वर्ना जिस “राम” को रात को
राज्य मिलने वाला था.
उसे सुबह वनवास ना मिलता….!!!

Leave a Comment