Aaj Ka Suvichar | पिता के द्वारा डांटी गई संतान गुरु के द्वारा डांटा

Spread the love

Aaj ka suvichar पिता के द्वारा डांटी गई संतान

Hamara Aaj ka suvichar hai kuchh estarahaa पिता के द्वारा डांटी गई संतान
गुरु के द्वारा डांटा गया शिष्य
और सुनार के द्वारा पीटा गया सोना
सुविचार ये सब अंत आभूषण ही बनते हैं।

कौआ कोयल की आवाज को
दबा सकता है..
मगर खुद की आवाज मधुर
नहीं बना सकता उसीतरह
निंदा करने वाला व्यक्ति सज्जन
को बदनाम कर सकता है मगर
खुद सज्जन नहीं बन सकता

Aaj ka suvichar सुप्रभात आज का शुभ विचार

जय श्री कृष्णा शरीर में कोई सुंदरता नहीं होती…
सुंदर होते हैं…व्यक्ति के कर्म,
उसके विचार, उसकी वाणी,
उसका व्यवहार,उसके संस्कार,
और उसका चरित्र।।
जिसके जीवन में ये सब ह
वही इंसान दुनिया का सबसे सुंदर शख्स है।

कभी वक्त मिले तो पन्ने पलटकर देखना हम जैसे आज हैं.. वैसे कल भी मिलेंगेतन को, ध्यान मन को दान धन को योग जीवन को प्रार्थना आत्मा को व्रत स्वास्थ

सबसे शानदार सुविचार तेरा मेरा करते एक दिन चले जाना है,

Aaj ka suvichar पिता के द्वारा डांटी गई संतान

Aaj ka suvichar तेरा मेरा करते एक दिन चले जाना है,

तेरा मेरा करते एक दिन चले जाना है,
जो भी कमाया है यही रह जाना है!
कर ले कुछ अच्छे कर्म,
साथ वही तेरे जाना है!
रोने से तो आंसू भी पराये हो जाते हैं,
लेकिन मुस्कुराने से,”
पराये भी अपने हो जाते हैं!
रिश्ते हमेशा वो ही पसन्द आते हैं,
जिनमें “मै” नही”हम” हो !!
इन्सानियत दिल में होती है,हैसियत मे नहीं,
ऊपर वाला कर्म देखता है, वसीयत नहीं

ज्ञान के बाद
यदि अहंकार का जन्म होता है,
तो वह ज्ञान ज़हर है,
किंतु ज्ञान के बाद
यदि नम्रता का जन्म होता है,
तो यही ज्ञान अमृत होता है।

मैंने एक बात नोट की है
जो सच्चा सीधा और ईमानदार
आदमी होता है उसकी इज्जत
जीरो है जो झूठ बोलता है और बेईमानी
करता है, वह सबका हीरो है

Aaj ka suvichar रूलाना हर किसी को आता है,

Aaj ka suvichar पिता के द्वारा डांटी गई संतान
Aaj ka suvichar पिता के द्वारा डांटी गई संतान

रूलाना हर किसी को आता है,
हँसाना भी हर किसी को आता है,
रूला के जो मना ले वो बाप है और
जो रूला के खुद भी रो पड़े
वहीं माँ है!!

“जरूरत”
अगर लोग केवल जरूरत पर
आपको याद करते हैं तो बुरा मत
मानिए बल्कि गर्व कीजिये,क्योंकि
एक मोमबत्ती की याद तब आती है
जब अंधकार होता है!!

कुऐं का पानी सब फसलों को
एक समान मिलता है
लेकिन फिर भी
करेला कड़वा गन्ना मीठा और
इमली खट्टी होती है
यह दोष पानी का नहीं है बीज का है
वैसे ही मनुष्य सभी एक समान
हैं परंतु उन पर संस्कारों का
असर पड़ता है

परमात्मा कभी किसी का भाग्य
नहीं लिखते,
जीवन के हर कदम पर हमारी सोच,
हमारा व्यव्हार, और हमारे कर्म ही
हमारा भाग्य लिखते हैं।

खूबियां देख कर तो कितने प्यार
जताएंगे…..
ज़िन्दगी में जगह उसे दो जो कमियां
देख कर भी साथ न छोड़े …!”

आज का प्रेरणादायक सुविचार हिंदी में 2021

Aaj ka suvichar पिता के द्वारा डांटी गई संतान

Decar जिंदगीमि ले हुए समय को ही

अच्छा बनाअगर अच्छे समकी  राह देखोगे

तो पूरा जीवन कम पड़ जाएगा..,यओ,
मिले हुए समय को ही
अच्छा बनाओ, अगर अच्छे समय
की राह देखोगे,
तो पूरा जीवन कम पड़ जाएगा..

2 thoughts on “Aaj Ka Suvichar | पिता के द्वारा डांटी गई संतान गुरु के द्वारा डांटा”

Leave a Comment