Zindagi dard bhari shayari | जबरदस्ती किसी की लाइफ का हिस्सा

Spread the love

Zindagi dard bhari shayari  जबरदस्ती किसी की लाइफ

जबरदस्ती किसी की लाइफ काहिस्सा बनने से अच्छा,खुद को संभालो और उसकी लाइफ
से दूर हो जाओ…!! Zindagi dard bhari shayari

जिंदगी रही तो याद सिर्फ
तुम्हें ही करते रहेंगे
भूल गए तो समझ जाना अब
हम जिंदा नहीं रहे

हमारा प्यार अधूरा रह गया
लेकिन तेरा टाईम पास
पूरा हो गया.

प्यार भी हम करे और इंतजार
भी हम करे
जताए भी हम्र और रोये भी

ये इश्क है जनाब यहा इंसान
निखरता भी कमाल का है
और बिखरता भी
कमाल का है

बहद हदें पार की थी
हमने कभी किसी के लिए,
आज उसी ने सिखा दिया
हद में

न जाने कौन सी
शिकायतों का हम
शिकार हो गए,
जितना दिल साफ़
रखा उतना गुनहगार हो गए.

नाराज मैं तुझसे नहीं
अपने दिल से हूँ,
औकात देखी नहीं
अपनी और तुझे अपना
समझ लिया..!!

Zindagi dard bhari shayari | जबरदस्ती किसी की लाइफ का हिस्सा

नाराज मैं तुझसे नहीं
अपने दिल से हूँ,
औकात देखी नहीं
अपनी और तुझे अपना
समझ लिया..!!

मृत्यु से भी अधिक
भयावह हो जाता है जीवन,
जब प्रेम में ही,
प्रेम की भीख मांगनी पड़ती है

अच्छा हुआ जो मालुम हो गया कि
हम उनके दिल में नहीं है।
वरना हम तो अपना घर भी छोड़ रहे थे
उनके दिल में बसने के लिये।

जब मोहब्बत से पेट भर जाए
तो लोगो को
अपनी इज़्ज़त याद आने लगती है

जब लोगों का मन भर जाता है ना..
तो वो कोई ना कोई बहाना लगा कर
हमें छोड़ देते हैं…!

रिश्तो का अहसास नहीं
होत चाहे कोई भी छोड़कर
जाए क्योंकि मैंने उन रिश्तो से धोखा
खाया है जिन पर मुझे खुद से
ज्यादा नाज था रिश्तो का अहसास

ममवणारी..
किसी के लाइफ का हिस्सा बनने से
अच्छा है कि खुद को संभालो
और उसके लाइफ से दूर हो जाओ

मुमकिन है मेरे किरदार में बहुत सी
कमियां होगी
पर शुक्र है किसी के जज़्बात से खेलने
का हुनर आया.!

जब दर्द सहने की
आदत हो जाती है ना
तो आंसू आना
खुद ही बंद हो जाते है

3दास कर देती है
रोज ये शाम
ऐसा लगता है जैसे कोई
भूल रहा है धीरे धीरे…

अक्सर वही दिए हाथों को जला देते हैं
जिनको हम हवा से बचा रहे होते हैं।

भूल गए है आजकल वो
लोग जो कहते थे हम तुम्हें कभी
खोना नहीं चाहते

मुझे खामोश देखकर इतना हैरान
क्यों होते हो दोस्तों।
कुछ नहीं हुवा है बस,
भरोसा कर के धोखा खाया है।

ये दुनियाँ हैं जनाब,
यहाँ अपने ही अपनो को
‘धोखा हैं।

मैंने कहा मेरा क्या होगा
तेरे छोड़ने के बाद
उसने हँसकर कहा लावारिस अक्सर
मर जाया करते है…

सुकून की तलाश मे
हम दिल बेचने निकले थे
खरीदार ऐसा मिला
दर्द भी दे गया दिल भी ले गया

शिकायत नहीं जिंदगी से
कि तेरे साथ नहीं,
बस तुम खुश रहना यार
हमारी तो कोई बात नही..

ना निभे तो रिश्ता तोड़ दो
पर धोरखाकाडरक़ को
बदनाम करना छोड़ दो

अंधो की तरह यकीन किया था
तुम पर और तुमने ये एहसास भी दिला
दिया कि अंधे ही थे हम…

मत कर यहाँ हर किसी पे भरोसा
ए दोस्त अपनी भलाई के लिए लोग तो कसम
भी झूठी खा जाते है

कुछ हार गई तकदीरें
कुछ टूट गए सपने
कुछ गैरों ने किया बर्बाद
कुछ छोङगए अपने

आज तो मेरी क़दर नही है
पर याद रखना,
जिस दिन खो दौगे उस दिन
मुस्कुराते हुए भी रो दौगे

साफ़ दामन का दौर तो कब का
खत्म हुआ साहब
अब तो लोग अपने धब्बों पर गुरूर
करने लगे हैं ,

आप हमको छोड़ना चाहते हो तो,
साफ साफ बोल दो।
चुप रहने से क्या फायदा।

मोहब्बत हाथ पर लगी
मेंहदी की तरह होती है
एक ना एक दिन
फीकी पड़ ही जाती है

जिंदगी में कुछ जख्म ऐसे होते हैं
जो कभी नहीं भरते..
बस इंसान उन्हें छिपाने का
हुनर सीख जाता है..

कब साथ निभाते है लोग,
आंसुओं की तरह बदल जाते है लोग,
वो ज़माना और था
लोग रोते थे गैरों के लिए,
आज तो अपनों को रुलाकर
मुस्कुराते हैं लोग।

कसक बनकर चुभती रहती
हैं तेरी यादें बता वो कौन सा लम्हा है
जिसमें तू नहीं है।।

जिससे उम्मीद हो अगर वही
दिल दुखा दे….
तो पूरी दुनियाँ से भरोसा
उठ जाता है।

Zindagi dard bhari shayari | जबरदस्ती किसी की लाइफ का हिस्सा

दिल में कभी कभी इतना
दर्द होता है कि हम
उस दर्द को सह भी नहीं पाते
और किसी से कह भी नहीं पाते

इंसान 2 लोगों से हमेशा
हार जाता है
एक अपने परिवार से और दूसरा
अपने प्यार से

तुम मुझे यह सोच कर
एक दिन बहुत याद करोगे
कि कोई पागल थी
जो सिर्फ मेरा इंतजार करती थी

कोई मरता रहा बात करने को,
किसी को कोई परवाह तक नहीं।

बार बार की चोट से तो
पत्थर भी टूट जाते है
फिर हम तो इंसान है यार

आसूं आ जाते हैं रात को
यह सोच कर कि कोई था
जो कहता था..
पागल अभी सोना मत
बात करनी है ।

आंसू चाहे इंसान के हो
या जानवर के ये बाहर तभी
आते है, जब दिल में बहुत दर्द
होता हैं..!

माफ करना।
हम तुम्हें समझ नहीं पाए
कि तुम हमारे हो ना ही
नहीं चाहते थे और हम
पागल की तरह तुम्हें
अपना बनाने में लगे थे..

जिंदगी में
और कुछ मेरा हो या ना हो
लेकिन गलती हमेशा
मेरी होती है

रुलाया ना कर ए जिंदगी
मुझे चुप कराने वाला
कोई नहीं है

दर्द तू शोर ना कर अभी गमों की रात है
मेरी भी मौत होगी बस कुछ ही समय की

कभी वक़्त मिले तो
सोचना जरूर!
वक़्त और प्यार के अलावा
तुमसे मांगा ही क्या था !

Zindagi dard bhari shayari | जबरदस्ती किसी की लाइफ का हिस्सा
Zindagi dard bhari shayari | जबरदस्ती किसी की लाइफ का हिस्सा

एक बात बोलू
Life में सारे खेल खेलना लेकिन
किसी के फिलिंग के साथ
कभी मत खेलना बहुत तकलीफ होती है!

कुछ लोग हमारी
कदर इसलिए नहीं करते
क्यूँकि हम उन्हें ये एहसास
दिला चुके होते हैं
की हम उनके बिना
रह नहीं सकते

मेरे अलावा काफी लोग हैं उनकी
जिंदगी में
अब मैं रहूं या ना रहूं क्या फर्क
पड़ता है!!

इंसान को अपनी औकात का तब पता
चलता है जब उसे वहाँ से
ठोकर मिले जहाँ उसने सबसे ज्यादा
भरोसा किया हो….

शायद लगता है हम आपको
परेशान कर रहे है
आज के बाद आपको कोई मैसेज
या कॉल नहीं करेंगे
हम आपकी खुशी चाहते हैं

जिंदगी में कुछ दर्द ऐसे
हैं जो जीने नही देते,
और कुछ फर्ज ऐसे हैं जो
मरने नही देते।

इसापकी सबसे बड़ी हार
तब हो जाती है,
जब उसे पता चलता
की जिसे हम अपना सब
कुछ समझते हैं
उसके लिए हम कुछ
नही हैं भी

ही लड़नी पड़ती है अपनी दर्द
भरी जिंदगी
यहाँ ताने तो सब सूना देते हैं पर
सच्चा सहारा कोई नहीं बनता

मैंने सब कुछ छोड़कर जिसे
अपना वक्त दिया,
आज उसके पास सिर्फ मुझे
छोड़कर सबके लिए वक्त हैं..!

ना मौत से दूर हूँ..
ना जिंदगी के पास हूँ..
साँसे चल रही है पर
एक जिन्दा हूँ..!!

टूटे हुए कांच की तरह
हम चूर हो गए
किसी को चुभ न जाएँ
इस लिए सबसे दूर हो गए

उनकी जब मर्जी होती हैं
वो हमसे बात करते है
हमारा पागलपन तो देखो हम पूरा
दिन उनके मर्जी का इंतजार करते हैं

Zindagi dard bhari shayari | जबरदस्ती किसी की लाइफ का हिस्सा

तुम्हारा तुशा के लिए,
तुमसे बात करना छोडा है..
कहीं ये मत सोचना कि,
हमें कोई और मिल गया

मेरी ज़िन्दगी में खुशियों का तो
पता नहीं, पर दर्द हमेशा टाइम पर
मिलता है।

सबको में ही समझू
कोई मुझे भी तो समझो..
मैं भी इंसान हूँ..
मुझे भी तो दर्द होला है!!

तेरी खुशियों के बीच अब
हम नहीं आएंगे तुम्हे बिना
बताये तेरी दुनियाँ से दूर
चले जायेगे।

मैं इस काबिल तो नही कि
कोई अपना समझे
पर इतना यकीन है
कोई अफसोस जरूर करेगा मुझे
खो देने के बाद

दिल चाहे कितना भी
तकलीफ में हो
तकलीफ देने वाला
दिल में ही रहता है

मेरा भी एक सपना था कि
मेरी जिंदगी में एक ऐसा
इंसान हो जो मुझे मेरी तरह
चाहे पर बाद में पता चला की सपना
चाहे दिन का हो या रात का, कभी
सच नहीं होता.

हम बहोत हँसते थे, ज़िन्दगी ने आज
रोना सीखा दिया सबके साथ बैठना अच्छा
लगता था, आज अकेला रहना सीखा दिया
बातें करने का शौक तो बहोत था पर
ज़िन्दगी ने आज चुप रहना सीखा दिया.

मजबूर नहीं करेंगे तुम्हें
बात करने के लिए चाहत होती तो
दिल तुम्हारा भी करता बात करने का

कभी कभी किसी के शब्द
इतने चुभ जाते हैं कि हम चुप
से हो जाते हैं और सोचते हैं,
क्या हम इतने बुरे हैं!

जो कभी मेरी उदासी की
वजह पूछा करता था
अब उसको मेरे रोने
से भी फर्क नहीं पढ़ता।

गुजर रही है
की Mood Off होने पर भी
मुस्कुराना पड़ता है
ताकि किसी को पता ना लगे.
“मैं तकलीफ में हूँ

अनजाने में अगर
मैंने कभी आपका दिल
दुखाया हो तो उसके लिए

दिल में चुभ जाती है अपनों की ही
बातें वरना गैरों में इतना दम कहा जो
इन आँखों में आंसू ला दे

जिंदगी ने एक बात सिखा दी
हम हमेशा किसी के लिए
ख़ास नहीं हो सकते

कभी उस इंसान को धोखा मत देना
जो तुम्हे दिल से चाहता हो
वरना एक दिन तुम्हारे पास
दिल तो होगा पर
दिल से चाहने वाला नहीं….

पता नहीं लोग झूठा
प्यार का नाटक इतनी
सच्चाई से कैसे कर लेते हैं।

Leave a Comment