जिस तरह चाहे नचा ले तू
इशारे पे मुझे “ऐ मालिक”
तेरे ही लिखे हुए
अफसाने का किरदार हूँ मैं

www.hshayari.in

स्त्री पारिवारिक
लोगों की मत सुना करो-
लोग तो कहते हैं कि पूनम उजली है
और अमावस काली है..!!

www.hshayari.in

फिर भी पूनम को होली है,
और अमावस को दीवाली है…!!

www.hshayari.in

ना ती जिंदगी वापस मिलती है
ना ही जिंदगी में आए हुए लोग
इसलिए उनसे हमेशा बने रहिए
जो आपके बहुत करीब है

www.hshayari.in

सागर में गहराई होती हैं
यादों में तन्हाई होती हैं
इस व्यस्त जिंदगी में

www.hshayari.in

कौन किसको य करता हैं
अगर कोई याद करता हैं तों
उसकी यादों में सच्चाई होती हैं..

www.hshayari.in

अल्लाह फरमाता है…
किसी का दिल दुखाकर मुझसे
अपनी खुशियों की दुआ मत करना
लेकिन किसी को एक पल की भी का
खुशी देते हो तो अपनी तकलीफ
कपल को भी की फिक्र मत करना.

www.hshayari.in

जिस्म और प्यार
दोनो ही एक नारी की रूह में समाए है
जिस्म को तो कोई जबरदस्ती पा लेता है
मगर प्यार कोई किस्मत वाला ही पाता है

www.hshayari.in

मेरी इबक्षितों को ऐसे कबूल कर ऐ मेरे खुदा कि सजदों में मैं झुकू! और मुझसे जुड़े हर रिश्ते की जिंदगी संवर जाए!!

start reading

गर्मी बहुत पड़ रही है। आपके
लिऐ केसर बादाम की ठंडी
ठंडी लस्सी भेज दी है।
पीलीजिएगा।

www.hshayari.in

Click Here